कालाकुंड रेलवे ट्रैक मूह DARR-FILES horror stories in Hindi

कालाकुंड रेलवे ट्रैक मूह DARR-FILES horror stories in Hindi

horror stories in Hindi

रात की तकरीबन 1:00 बजे आऊंगी और सुमित ट्रेन चलाने के लिए तैयार बैठा था बस इंतजार था तो उस मंदिर के दर्शन का जिस मंदिर के दर्शन किए बिना ईटेन वहां से आगे नहीं बढ़ सकती थी घटनाएं मुंह के पास पातालपानी के जंगल में कालाकुंड रेलवे ट्रैक की सुमित रात को खाना पीना खाने के बाद अपनी यात्रा शुरू करने की तैयारी कर रहा था

सुमित एक ट्रेन ड्राइवर है जिसे 3 साल हो चुके हैं इस नौकरी को करते करते लेकिन अपने 3 साल के ड्राइविंग यार मैं उसके साथ आज तक ऐसा हादसा नहीं हुआ था वह कालाकुंड रेलवे ट्रैक पर उस मंदिर के बिना दर्शन किए बिना है

उसने ट्रेन को आगे बढ़ाते ट्रेन आगे तो चल पड़ी लेकिन अब सुमित को ट्रेन चलाते बा कुछ महसूस हो रहा था जैसे उसे लग रहा था कोई ठीक उसके बगल में बैठे और उसके हाथों को ट्रेन ऑपरेट करने से रोक रहा है वो एकदम से खड़ा हुआ तो फिर से सब सामान ऐसा हो गया मुझे लगा शायद मेरा पूरा होगा और इतना ध्यान नहीं दिया लेकिन जैसे-जैसे रात बढ़ती जा रही थी

और ट्रेन अपनी राह पकड़ रही थी एक अजीब सा डर सुमित को लग रहा था मानो उसे पल पल अपने साथ किसी के होने का एहसास हो रहा है अब अचानक उसने अपनी ठीक बगल में जैसे ही उसकी नजर के मानव के शरीर में सिहरन सी दौड़ में एक भयानक शक्ल का आदमी जिसका आधार चला हुआ था एकदम से गिर पड़ा और फिर से उसकी तरफ देखा तो वहां कोई भी नहीं था

और ट्रेन उसी वक्त वीरान से जंगल के बीचो बीच बढ़ गए उसके बाद उसने मदद बुलाए और सब कुछ बताया तो एक उम्र दराज आदमी ने बताया तूने काला खंड रेलवे ट्रैक से निकलते वक्त वहां के मंदिर के दर्शन की थी उसे याद आएगी वहां एक आदमी ने उसे बताया था लेकिन इस पर उस ने ध्यान नहीं दिया और ट्रेन बिना दर्शन की ही आगे बढ़ा दी सभी भगवान का शुक्र बनाता है कि वह बच गया

और ट्रेन भी नहीं चला वरना जिसने भी ऐसा किया है वह अपनी जान से हाथ धो बैठा है या तो पूरी ट्रेन खाई में पलट जाती है अगर दोस्तों कलाकंद रेलवे ट्रैक की पूरी कहानी जानी है तो हमें कमेंट करके जरूर बताइएगा हम उस पर भी वीडियो जरूर बनाएंगे तब तक के लिए अपना ख्याल रखिएगा और देखते रहिएगा डर पायल मेरी जानी मनीष के साथ

video credit: darr files

No Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: